आप यहाँ है: मुख्यपृष्ठ फिल्म गाने पुराना ज़माना सिलसिला-रंग बरसे (Silsila-Rang Barse Lyrics)

सिलसिला-रंग बरसे (Silsila-Rang Barse Lyrics)

( 9 Votes )
उपयोगकर्ता अंक: / 9
ख़राबश्रेष्ठ 

रंग बरसे (Rang Barse)
   फिल्म -
सिलसिला (Silsila)
   गायक- अमिताभ बच्चन

रंग बरसे भीगे चुनर वाली, रंग बरसे
अरे कैने मारी पिचकारी तोरी भीगी अंगिया

ओ रंग रसिया रंग रसिया, हो
रंग बरसे भीगे चुनर वाली, रंग बरसे ...

सोने की थाली में जोना परोसा
अरे, सोने की थाली में जोना परोसा
हाँ, सोने की थाली में जोना परोसा
अरे, खाए गौरी का यार बलम तरसे रंग बरसे
होली है!!!
ओ, रंग बरसे भीगे चुनर वाली, रंग बरसे ...

लौंगा इलायची का, अरे लौंगा इलायची का
लौंगा इलायची का? हाँ
अरे लौंगा इलायची का बीड़ा लगाया
हाँ, लौंगा इलायची का बीड़ा लगाया
चाबे गौरी का यार, बलम तरसे
होली है!!!
ओ, रंग बरसे भीगे चुनर वाली, रंग बरसे ...

अरे, बेला चमेली का सेज़ बिच्छाया
बेला चमेली का, सेज़ बिच्छाया
अरे, बेला चमेली का सेज़ बिच्छाया
हाँ, बेला चमेली का सेज़ बिच्छाया
सोए गौरी का यार, बलम तरसे
होली है!!!
ओ, रंग बरसे भीगे चुनर वाली, रंग बरसे ...

कलाकार - अमिताभ बच्चन, रेखा


पढ़िए "सिलसिला" के और गाने:

यह कहाँ आ गये हम नीला आसमान सो गया देखा एक ख्वाब

चर्चित लेख

 

नवीनतम लेख

 

जन्मदिन

 
  • जन्मदिन
  • जन्मदिन
  • जन्मदिन
  • जन्मदिन
  • जन्मदिन

हमे ढूंढे

 

भारत एक विविधिताओं का देश है| यहाँ अनगिनत धर्मों, मज़हबों, जातियों, संस्कृतीयो, भाषाओं, त्योहारों, लोकगीतों आदि का एक अद्भुत और भव्य संगम है |
और पढ़े...

ई-मेल:

फ़ोन नंबर: +91-9971138071


Feedback Form
Feedback Analytics