आप यहाँ है: मुख्यपृष्ठ

किशोर कुमार

किशोर कुमारजन्म नाम – आभास कुमार गांगुली

जन्म तिथि – 4 अगस्त 1929

जन्म स्थान – खंडवा, मध्य प्रदेश

मृत्यु – 13 अक्टूबर, 1987 (दिल का दौरा पड़ने से)

कद – 5’8.5”

उपनाम - किशोर दा

पहला गाना – मरने की दुआएं क्यू मांगू (ज़िद्दी, 1948)

किशोर कुमार हिन्दी सिने जगत के सबसे लोकप्रिय गायक के रूप में उभरे. उनके गाए हुए गाने आज भी लोगों के जहन में है. उन्हे 8 बार फिल्म फेयर सर्वश्रेष्ठ गायक का खिताब मिला है जो अपने आप में एक कीर्तिमान है.

किशोर कुमार ना सिर्फ़ एक उम्दा गायक थे, अभिनेता, गीतकार, निर्माता, लेखक और निर्देशक भी थे. उन्होने अपने फिल्मी पेशे की शुरुआत एक अभिनेता के रूप में फिल्म शिकारी(1946) से की. खेम चंद प्रकाश ने उन्हे फिल्म ज़िद्दी में गाने का मौका दिया जिसमे उन्होने अपना पहला गाना गाया. अभिनेता के रूप में उन्होने और भी कई फिल्में की पर उनका दिल गीत गानो में रहा.

और पढ़े...

शराबी-मुझे नौलखा मंगवा दे

मुझे नौलखा मंगवा दे  (Mujhe Naulakha Mangva De)
    फिल्म - शराबी   (Sharaabi)
    गायक -  आशा भोंसले  


अंग अंग तेरा रंग रचाके
ऐसा करू सिंगार

और पढ़े...  

याराना - छूकर मेरे मन को

छूकर मेरे मन को (Chukar Mere Man Ko)
    फिल्म - याराना (Yaarana)
    गायक - किशोर कुमार


(छुकर मेरे मन को किया तूने क्या इशारा) -2
बदला यह मौसम लगे प्यारा जग सारा

और पढ़े...  

शराबी

इंतहा हो गई (Inteha Ho Gayi)
  फिल्म - शराबी (Sharaabi)
  संगीत - आर.डी.बर्मन

इंतहा हो गई, इंतज़ार की
आई ना कुछ खबर, मेरे यार की

और पढ़े...  

शराबी-लोग कहते है

लोग कहते है में शराबी हूँ    (Log Kahte Hain)
    फिल्म - शराबी   (Sharaabi)
    गायक -  किशोर कुमार


लोग कहते है मैं शराबी हूँ (2)
तुम ने भी शायद यही सोच लिए हां

और पढ़े...  

पड़ोसन - एक चतुर नार

एक चतुर नार (Ek Chatur Naar)
     फिल्म - पड़ोसन (Padosan)
     गायक - किशोर कुमार


एक चतुर नार कर के सिंगार
मेरे मान के द्वार ये घुसत जात

और पढ़े...  

शोले

"तेरा क्या होगा कालिया" संवाद आज तक सबके दिलो दिमाग पर है| हिन्दी सिनिमा की सबसे प्रशंसनीय फ़िल्मो मे से एक फिल्म है शोले| एक गाँव रामगढ़ मे निर्देशित, यह एक परंपरागत हिन्दी फिल्म है जो आज तक हिन्दी फिल्म प्रशंसको के दिल मे घर कर बैठी है| हज़ारो बार देखने बाद भी लोग इसे देखते नही थकते| जय और वीरू की दोस्ती, गब्बर सिंह का डर, सूरमा भोपाली और जैलेर का हास्य, और टाँगेवाली बसंती और उसकी धन्नो- हर पात्र ने दिलो दिमाग़ पर अपनी छाप छोड़ी है|

और पढ़े...  

सत्ते पे सत्ता - प्यार हमे

प्यार हमे किस मोड़ पर ले आया (Pyar Hume Kis Mod Par Le Aaya)
    फिल्म - सत्ते पे सत्ता (Satte Pe Satta)
    गायक - किशोर कुमार


हम ने वो क्या देखा जो कहा दीवाना
हम को नही कुछ समझ ज़रा समझाना
प्यार मे जब भी आँख कही लड़ जाए

और पढ़े...  

क़र्ज़ - एक हसीना थी

एक हसीना थी (Ek Haseena Thi)
   फिल्म - कर्ज़ (Karz)
   गायक - किशोर कुमार, आशा भोंसले    


(एक हसीना थी
एक दीवाना था
क्या उम्र, क्या समा, क्या ज़माना था) -2

(एक दिन वोह मिले
रोज़ मिलने लगे) -2
फिर मोहब्बत हुयी
बस क़यामत हुयी

खो गए तुम कहा
सुनके यह दास्तान
लोग हैरान है
क्युंकी अनजान है

इश्क की वोह गली
बात जिसकी चली
उस गली मे
मेरा आना, जाना था

एक हसीना थी
एक दीवाना था
क्या उम्र थी, क्या समा था, क्या ज़माना था
एक हसीना थी
एक दीवाना था

उस हसी ने कहा
उस हसी ने कहा
सुनो जानेवफ़ा
यह फलक, यह ज़मीन
तेरे बिन कुछ नही
तुझपे मरती हू मै
प्यार करती हू मै

बात कुछ और थी
वोह नज़र-चोर थी
उसके दिल मे छुपी
चाह दौलत की थी
प्यार का वोह फकत
एक बहाना था

एक हसीना थी
एक दीवाना था
क्या उम्र थी, क्या समा था, क्या ज़माना था
एक हसीना थी
एक दीवाना था

बेवफा यार ने
अपने महबूब से
ऐसा धोका किया....
ज़हर उसको दिया
धोका धोका धोका..
ज़हर उसको दिया

मर गया वो जवान..
अब सुनो दास्तान
जन्म लेके कही
फिर वोह पहुचा वही
शक्ल अनजान थी
क़त्ल हैरान थी
सामना जब हुआ..
फिर वही सब हुआ
उसपे यह क़र्ज़ था
उसका ये फ़र्ज़ था
फ़र्ज़ को क़र्ज़ अपना चुकाना था
 

कलाकार - ऋषि कपूर, टीना मुनीम 


पढ़िए 'क़र्ज़' के और गाने:

ओम शान्ति ओम पैसा ये पैसा दर्द-ए-दिल

 
Powered by Tags for Joomla

चर्चित लेख

 

नवीनतम लेख

 

जन्मदिन

 
  • जन्मदिन
  • जन्मदिन
  • जन्मदिन
  • जन्मदिन
  • जन्मदिन

हमे ढूंढे

 

भारत एक विविधिताओं का देश है| यहाँ अनगिनत धर्मों, मज़हबों, जातियों, संस्कृतीयो, भाषाओं, त्योहारों, लोकगीतों आदि का एक अद्भुत और भव्य संगम है |
और पढ़े...

ई-मेल:

फ़ोन नंबर: +91-9971138071


Feedback Form
Feedback Analytics