आप यहाँ है: मुख्यपृष्ठ

अमिताभ बच्चन

altजन्म नाम: इन्किलाब श्रीवास्तव

जन्म तिथि: 11 अक्टूबर, 1942

पहली फिल्म: सात हिन्दुस्तानी

पहली सफल फिल्म: जंजीर

उपनाम: बिग बी,एंग्री यंग मेन,शहेंशाह

बिग बी के नाम से जाने जाने वाले अमिताभ बॉलीवुड के शहेंशाह भी कहे जाते है| 40 साल बाद भी आज बॉलीवुड में उनके कद के सामने कोई नहीं है और  67 की उम्र में भी आज वे बॉलीवुड के सबसे व्यस्त अभिनेताओं में गिने जाते है| शुरू में जिस बाहरी आवाज़ के कारण  निर्देशकों ने अमिताभ को अपनी फिल्मों से लेने को मना कर दिया था, वही आवाज़ आगे चलकर उनकी विशिष्टता बनी| 40 साल के पेशे में उन्हें दर्शकों ने अनेको नाम दिए: बिग बी , शहेंशाह,  एंग्री यंग मेन आदि| अमिताभ ने न सिर्फ बड़े परदे पर खुद को साबित किया पर छोटे परदे पर भी नए आयाम स्थापित किये| धारावाहिक कौन बनेगा करोडपति से उन्होंने अपनी जिंदगी की नयी पारी की शुरुआत की थी और एक के बाद एक नया उच्चमान हासिल करते गए| एक अभिनेता के आलावा, अभिताभ एक गायक, निर्माता और सांसद की भूमिका भी निभा चुके है|

और पढ़े...

मोहब्बतें - आँखें खुली हो या बंद

आँखें खुली हो या हो बंद (Aankhen Khuli Ho Ya Ho Band)
   फिल्म -
मोहब्बतें (Mohabbatein)
   संगीत - जतिन - ललित

आँखें खुली हो या हो बंद,
दीदार उनका होता है.

और पढ़े...  

मिस्टर नटवरलाल

मिस्टर नटवरलाल राकेश शर्मा द्वारा निर्देशित हिंदी फिल्म है| फिल्म में मुख्य कलाकार अमिताभ बच्चन, रेखा, अजित, अमजद खान, कादर खान हैं| फिल्म में संगीत राजेश रोशन जी ने दिया है|

नटवरलाल का भरोसा क़ानून और इन्साफ पर से उठ जाता है जब उसके इमानदार पुलिस ऑफिसर भाई को झूठे इलज़ाम में अपराधी वर्ग विक्रम द्वारा फसाया जाने पर सज़ा मिलती है|

और पढ़े...  

शान - यम्मा यम्मा

यम्मा यम्मा (Yamma Yamma)
  फिल्म - शान (Shaan)
  संगीत - राहुल देव बर्मन


(यम्मा यम्मा, यम्मा यम्मा, यह खूबसूरत समा,) ---2
(बस आज की रात है ज़िंदगी , कल हम कहाँ तुम
कहाँ) ---2

और पढ़े...  

राम बलराम

राम बलराम विजय आनंद द्वारा निर्देशित हिंदी फिल्म है| फिल्म के मुख्य कलाकार धर्मेन्द्र, अमिताभ बच्चन, ज़ीनत अमान, रेखा हैं| फिल्म में संगीत लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल ने दिया है|

जगतपाल धोखे से अपने सौतेले भाई-भाभी की रियासत पर कब्ज़ा कर लेता है| जगतपाल अपनी भाभी को घर से निकाल देता है और उसके दोनों बेटे अपने पास रख लेता है|

और पढ़े...  

झूम बराबर झूम - उडती उडती अखियों के

उड़ती उड़ती अँखियों के (Udti Udti Akhiyon Ke)
फिल्म -
झूम बराबर झूम (Jhoom Barabar Jhoom)
संगीत - शंकर-एहसान-लॉय


हो आजा आजा रब्बा इशक़े दी खोल गुटटिया
आजा रब्बा इशक़े दी खोल गुटटिया
हो आजा आजा रब्बा इशक़े दी खोल गुटटिया

और पढ़े...  

बॉम्बे टू गोवा

बॉम्बे टू गोवा एस. रामनाथन द्वारा निर्देशित 1972 में बनी रोमांचक हिंदी फिल्म है| फिल्म के मुख्य कलाकार अमिताभ बच्चन, अरुणा ईरानी, शत्रुगन सिन्हा  हैं| फिल्म में संगीत आर.डी. बर्मन जी ने दिया है|

आत्माराम (नजीर हुसैन) और उसकी पत्नी (दुलारी) की ज़िन्दगी में भूचाल आ जाता है जब वह अपनी बेटी माला (अरुणा ईरानी) की फोटो एक मैगज़ीन में देखते हैं| वह रामलाल (आघा) के बेटे से माला की शादी का फैसला करते हैं लेकिन माला इस शादी के खिलाफ है| इसी दौरान शर्मा (शत्रुघ्न सिन्हा) और वर्मा (मनमोहन) माला को बॉलीवुड फिल्म के लिए साइन करने का फैसला करते है| माला के माता-पिता इसके सख्त खिलाफ हैं लेकिन माला को अपनी माता-पिता की उसकी ज़िन्दगी में दखल-अंदाजी पसंद नहीं और वह घर से ढेर सारा पैसा लेकर भाग जाती है| माला सारा पैसा शर्मा और वर्मा को दे देती है| शर्मा और वर्मा में लालच आ जाता है जिसके फलस्वरूप वर्मा की हत्या हो जाती है| माला शर्मा को वर्मा की हत्या करते देख लेती है और अब शर्मा माला की जान लेना चाहता है| माला बॉम्बे से गोवा के लिए बस पकडती है लेकिन शर्मा उसका पीछा करता है और बस में अपना एक आदमी माला को मारने के लिए भेजता है| बस में माला की मुलाकात रवि कुमार (अमिताभ बच्चन) से होती है जो पूरे रास्ते उसकी रक्षा करता है और पूरे सफ़र में उसके साथ रहता है| माला रवि पर भरोसा करने लगती है और उसे रवि से प्यार हो जाता है| 

फिल्म में बस का सफ़र सबसे रोमांचक है| बस में पूरे भारत के अलग-अलग शहरों , धर्मों  के लोग हैं| फिल्म में सबसे मजेदार किरदार अम्मा और अप्पा (मुकरी) के बेटे ने निभाया है जो पकोड़े खाने के लिए कुछ भी कर जाता है|  

इस फिल्म की समीक्षा लिखिए

और पढ़े...  

शराबी-लोग कहते है

लोग कहते है में शराबी हूँ    (Log Kahte Hain)
    फिल्म - शराबी   (Sharaabi)
    गायक -  किशोर कुमार


लोग कहते है मैं शराबी हूँ (2)
तुम ने भी शायद यही सोच लिए हां

और पढ़े...  

शराबी-मंजिलें अपनी जगह

मंजिले अपनी जगह है  (Manzile Apni Jagah)
   फिल्म - शराबी   (Sharaabi)
   गायक -  किशोर कुमार


मंज़िलों पे आके लूट-ते हैं दिलों के कारवाँ
कश्तिया साहिल पे अक्सर डूबती हैं प्यार की

और पढ़े...  
Powered by Tags for Joomla
1

चर्चित लेख

 

नवीनतम लेख

 

जन्मदिन

 
  • जन्मदिन
  • जन्मदिन
  • जन्मदिन
  • जन्मदिन
  • जन्मदिन

हमे ढूंढे

 

भारत एक विविधिताओं का देश है| यहाँ अनगिनत धर्मों, मज़हबों, जातियों, संस्कृतीयो, भाषाओं, त्योहारों, लोकगीतों आदि का एक अद्भुत और भव्य संगम है |
और पढ़े...

ई-मेल:

फ़ोन नंबर: +91-9971138071


Feedback Form
Feedback Analytics